विश्व धरोहर(विरासत) दिवस का महत्व|WORLD HERITAGE DAY 2023-hindimetrnd.in

Rate this post

लेखक:गुड्डू राय

हमारा देश विविधताओ का देश है| समय समय पर लोग यहाँ आते रहे और यहाँ के जगहों पर दखल करते गए| हमारे देश को एक समय सोने की चिरिया कहा जाता था,लेकिन समय-समय  पर लुटेरे आते गए और हमारे देश के धरोहर को नस्त करते गए| आज WORLD HERITAGE DAY के बारे में हम इस पोइस्त में बात करेंगे| हालाँकि लुटोरो ने बहुत सरे ऐसे चीजो का निर्माण किया है जिससे हमे गर्व होता है| हममे से बहुत सरे एस व्यक्ति होंगे जिन्हें हमारी सम्पति के बारे में बहुत कम जानकारी होगी| सम्पति से हमारा तात्पर्य है हमारे देश के धरोहर| क्या आपको मालूम है पुरे विश्व में 18 अप्रैल के दिन क्या मनाया जाता है तो आपको बताते हुए हमे बहुत ख़ुशी होगी की इस दिन पुरे विश्व में धरोहर दिवस के रूप में मनाया जाता है| क्या आपको पता है WORLD HERITAGE DAY /विश्व धरोहर(विरासत )दिवस का महत्व ? अगर नहीं तो ये पोस्ट आप के लिए है जिसमे आपको विश्व धरोहर(विरासत) दिवस की सारी जानकारी मिलेगी| ये भी पढ़े:WORLD-HEALTH-DAY

विश्व हेरिटेज दिवस का महत्व(IMPORTANCE OF WORLD HERITAGE DAY ):

हमारा देश विवधताओ का देश रहा है| हमारे देश का गौरव कितना बरा है उनका अनुमान हमे हमारे देश में व्यापत वोइरास्तो को देख कर लगाया जा सकता है| विश्व विरासत दिवस का उद्देश्य या महत्व केवल बरी बरी इमारतो को बचाना नहीं है बल्कि उससे परे है| उससे जूरी संस्कृति को बचाना सबसे बरा उद्देश्य है| पुरे विश्व में जितने भी देश है हर देश की अपनी एक इतिहाश रही है जो बीते दिनों के पन्नो में दर्ज है,जिनमे देश में व्याप्त धरोहरों के किस्से दफ़न किये गए है उसकी संस्कृति से जुरे सारे किस्से हमे इस इतिहाश के पन्नो में मिलती है|
अंतराष्ट्रीय विरासत दिवस हमे याद दिलाती है की हमे अपने एतिहासिक स्थानों को पूरी जिम्मेदारी से निभाने की जरुरत है| ये धरोहर हमे कई वर्षो का इतिहाश की याद  दिलाती है, एवं जब भी हम एसी जगहों पर जाए तो हमे अपने कर्तव्यो का पालन करते हुए गन्दगी न फैलाते हुए इसं विरासतों के दीवारों पे न लिखते हुए हमे संवदनशील होने की जरुरत है| ये भी पढ़े:world-sleep-day
WORLD HERITAGE DAY 2021 /विश्व धरोहर(विरासत) दिवस का महत्व

विश्व विरासत दिवस का इतीहास:

विश्व में सभी देशो के अपने अपने विरासत रहे है, इन विरासतों की रक्षा क लिए क मजबूत संगठन की स्थापना की गई,जिसमे हर क्षेत्र क विशेषग्य एक साथ जुटे और इसमें आर्किटेक्ट इंजीनियरों, भूगोलकार, सिविल इंजीनियरों, और कलाकारों और पुरातत्व विभाग के व्यक्ति आदि सब शामिल थे।
ये सारे व्यक्ति हर वर्ष यह सुनिश्चित करते है की दुनिया में जितने भी बरे बरे खुबसूरत इमारते है उनमे से सबसे खुबसूरत स्थल और स्मारक को भविष्य के पीढियों के लिए बचाया जाए उन्हें सरक्षित किया जाए ये इन व्यक्तियों की प्रथम जिम्मेदारी होती है
पुरे विश्व में 150 से भी अधिक देश है,जिनमे  लगभग 10,000 से भी अधिक सदस्यों को इस कमिटी में रखा गया है। 10,000 सदस्यों में से 400 से अधिक सदस्य इस तरह के संस्थानों, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक समितियों के सदस्य होते हैं। यह सभी विश्व के महत्वपूर्ण स्मारकों को बचाने और उनकी पहचान के लिये एकजुट मिलकर कार्य करते हैं।
WORLD HERITAGE DAY (विश्व धरोहर दिवस) हर साल 18 अप्रैल को मनाया जाने वाला एक सांस्कृतिक कार्यक्रम है। जीसका उद्देश्य मानव द्वारा रचित विरासतो को संरक्षित करना है | सऊदी अरब ने 2013 में पहली बार विश्व धरोहर दिवस मनाया था।
विश्व धरोहर दिवस हमे सभी संस्कृतियों के प्रति सम्मान की भावना व्यक्त करने एवं उनके प्रति जागरूक बनाती है ,वर्ष 1982, 18 अप्रैल को ट्यूनीशिया शहर में पहली बार इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ मोनुमेंट्स एंड साइट्स(International Monuments and Sites Da) द्वारा पहला विश्व विरासत दिवस मनाया गया।वर्ष 1983 में संयुक्त राष्ट्रसंघ की संस्था युनेस्को ने इस दिवस को मान्यता प्रदान की | इसके पूर्व प्रत्येक वर्ष 18 अप्रैल को विश्व पुरातत्व स्थल और स्मारक दिवस दोनो को एकसाथ मनाया जाता था। ये भी पढ़े:world-theater-day-in-2023

विश्व विरासत दिवस 2023का थीम:

हर वर्ष  संयुक्त राष्ट्र संघ की संस्था UNESCO,विश्व विरासत दिवस के उपलक्ष पर विश्व के लोगो को जागरूक करने के लिए एक theme का आयोजन करता है इस वर्ष का theme है COPLEX PAST,DIVERSE FEUTURE(काम्प्लेक्स पास्ट,डाईवेर्स फ्यूचर|
हमारे इतिहास में सब कुछ सकारात्मक नहीं रहा है समय -समय पर हिंसक और म्रत्यु हमे याद दिलाती है इस विरासतों की,की ये विरासत हमे बहुत जद्दो जहत से हाशिल हुई है इतिहाश के पन्ने इनका साबुत है|
WORLD HERITAGE DAY 2021 /विश्व धरोहर(विरासत) दिवस का महत्व

कैसे मनाया जाता है विश्व विरासत दिवस 2023:

हमारे देश में ऐसे कई पुरातत्व स्थल है जहा हर कोई एक न एक बार जाना जरुर चाहता है| आज पुरा विश्व covid का शिकार हो चूका है इस समय हमारा फर्ज है की हम अपने आने वाले पीढ़ी के साथ उन्हें पुरे विश्व खी धरोहरों से अवगत कराए और यह कैसे कर सकते हा, जैसे की आप सभी को पता है की पुरा विश्व कोरोना का शिकार हो चूका है अतः हम इन्टरनेट की सहायता से उन्हें साडी चीजो से अवगत कराए|  उनके इतिहाश को हमारे आने वाली पीढ़ी से अवगत काराए,उन स्थलों किरोचक बाते बताए| किस तरह लोग हमारी इस धरोहरों को गन्दा करते है उन्हें गन्दा न करने के लिए जागरूक बनाए|
अब एसा समय आ चूका है की हर देश अपने अपने धरोहरों की रक्षा के लिए संगठनों का प्रयोग करते है| ऐसे में जब समय साधारण होती है तब सरकार द्वरा इस दिन के उत्सव पर कई तरह क प्रोग्राम किये जाते है| आजकल तो इस प्रकार का धरोहरों को vertual भी दिखाया जाता है|

WORLD HERITAGE DAY  /विश्व धरोहर(विरासत) दिवस का महत्व के कुछ अंतिम शब्द:

विरासत की अपनी अपनी कहानी होती है किसी को आसानी से मिली नहीं है| हर धरोहर अपने आप में एक इतिहाश है जिसके पन्नो को अगर टटोला जाए तो हम जानेंगे की उनके पीछे का राज क्या है| तो अगर आपको WORLD HERITAGE DAY  /विश्व धरोहर(विरासत) दिवस का महत्व ? के बारे में नहीं पता है तो ये पोस्ट आपके काम की है| जिसमे हम अपने पाठको के लिए साडी जानकारी देने की कोशिश की है| ताकि हमारे पाठक को किसी दुसरे आर्टिकल  में जाने की जरुरत न हो|

अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा तो कृपया इसे facebook,instagram twiter linkdin whatsapp में शेयर जरुर करे एवं यदि आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते है तो हमे कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट जरुर करे |

यदि आप hindimetrnd.in के साथ जुरना चाहते है तो कृपया हमारे फेसबुक पेज को लाइक करना न भूले hindimetrnd/facebookpage 

ये भी पढ़े :

Leave a Comment