WHAT IS PEGASUS SOFTWARE? जाने पूरी जानकारी 2023 में?

Rate this post

लेखक:गुड्डू राय

PEGASUS SOFTWARE, आज पूरा विश्व इन्टरनेट से इस कदर ज़ुरा हुआ है यह पूरा विश्व जनता है| यह बात  सच है की जिस कदर हम इन्टरनेट से लाभ पाप्त कर सकते है उसी प्रकार हम इसके शिकार भी हो सकते है| आज जहाँ google और MICROSOFT जैसे बरी-बरी एवं अच्छी कंपनियों से हम लाभ प्राप्त कर  सकते है उसी प्रकार हम कुछ ऐसे कंपनिया भी है जो हमें नुकसान पहुंचा सकते है|

हम एक ऐसे सॉफ्टवेयर के बारे में बात करेंगे जिसके कारन पूरी दुनिया में खलबली मची हुई है| जी दोस्तों बीते कुछ दिनों में भारत सरकार ने भी इस बात पे चिंता का विषय जताया है| आज हम WHAT IS PEGASUS SOFTWARE ? से सम्बंधित बात करेंगे, जिसके जरिये पूरा विश्व चिंता करते हुए यह सोच रहे है की हम इनसे निजत कैसे पा सकते है|

पूरा विश्व mobile का प्रयोग करता है, लगभग हर देश के लोग इन्टरनेट से जुरे हुए है,हालाँकि हम सभी को डाटा चोरी क बारे में मालूम है लेकिन इस सॉफ्टवेयर में एसा क्या है? जिससे हम डिजिटल गुलाम बन सकते है|

आज हम इस पोस्ट में WHAT IS PEGASUS SOFTWARE? से जूरी सारी जानकारी आपसे साझा करेंगे ताकि आपको किसी दुसरे आर्टिकल में जाने की जरुरत न हो| अगर आप PEGASUS SOFTWARE से जूरी हर प्रश्न का हल चाहते है तो यह पोस्ट आपके लिए है|

WHAT IS PEGASUS SOFTWARE? जाने पूरी जानकारी 2021 में?

क्या है PEGASUS सॉफ्टवेयर?

यह एक एसा सॉफ्टवेयर है जिनके जरिये IOS हो या ANDROID इन सभी प्रकार के सॉफ्टवेयर को आसानी से लूपहोल के जरिये सेंध लगाया जा सकता है| यह मार्केट में उपलब्ध सबसे बेहतरीन सॉफ्टवेयर में से है जिसके द्वारा आसानी से mobile फोंस में सेंध लगाया जा सकता है|
इस सॉफ्टवेयर के जरिये आपकी privacy भी खतरे में पर सकती है क्यूंकि यह सॉफ्टवेयर काफी आसानी से mobile के डाटा को हैक कर सकता है जिसका तोर अभी तक नहीं निकला है | एवं साथ ही साथ बरे-बरे कम्पनी के मन में भी यह डर सता रहा है क्यूंकि उनका डाटा भी सेफ नहीं होंगे |
यह सॉफ्टवेयर को आसानी से डिटेक्ट नहीं किया जा सकता है एवं इसका तोर भी अभी तक नहीं निकला है जिसकी सहायता से इससे बचा जा सके | बरे कम्पनी जैसे माइक्रोसॉफ्ट एवं google इसके तोर निकालने में लगे हुए है |
 

किसने बानाया है PEGASUS सॉफ्टवेयर:

यह सॉफ्टवेयर इजराइल देश के द्वारा बनाया गया है जिसके साइबर इंटेलिजेंस एवं सिक्यूरिटी सेल NSO ग्रुप के द्वारा बनाया गया है जिसका कार्य सरकारी एजेंसियों को मदद करना है ताकि दुनिया भर में चल रही विभिन्न प्रकार के अनैतिक कार्यो को रोका जा सके|
 
ये भी पढ़े
 

कितनी खरतनाक साबित हो सकती है यह सॉफ्टवेयर:

यह सॉफ्टवेयर हमारे लिए कितना जयादा खतरनाक साबित हो सकता है इसका पता हम इस बात से लगा सकते है की आपके फोन में आपसे जयादा CONTROL उस सॉफ्टवेयर का होगा,जो आपके हर प्रकार के सिक्यूरिटी का तोर आसानी से निकाल सकते है|
 
आपके फोन में कितनी भी फाइल हो यह सॉफ्टवेयर आसानी से पता लगा सकता है, चाहे वह ब्राउज़िंग हो या image या फिर किसी प्रकार का PASWORD सबकी जानकारी इसके पास स्टोर रहता है| चाहे आप इस सॉफ्टवेयर को ALOW करे या ना करे|
 

पेगासस सॉफ्टवेयर का जीरो-क्लिक अटैक क्या है:

यह सॉफ्टवेयर जीरो क्लिक अटैक करता है| सायद आपको पता नहीं होगा की जीरो क्लिक अटैक क्या है? दोस्तों हम आपको बताना चाहते है की इस प्रकार के अटैक में आपको किसी भी तरह से अपने mobile को छुने की जरुरत नहीं होती है|
 
जी हाँ आपने सही पढ़ा इस सॉफ्टवेयर में आपको किसी भी प्रकार की क्लिक की जरुरत नहीं होती है यह सॉफ्टवेयर खुद ब खुद ही आपके mobile फ़ोन में इंस्टाल हो सकता है चाहे वह IOS ऑपरेटिंग सिस्टम हो या फिर ANDROID सिस्टम| आपके सेल फ़ोन में आसानी से यह इनस्टॉल हो सकता है| आप इस सॉफ्टवेयर का तोर नहीं निकल पाएंगे क्यूंकि इन्हें उसी प्रकार से बनाया गया है|

हर सॉफ्टवेयर की खामी का लाभ उठा सकता है यह सॉफ्टवेयर:

चाहे आप IOS user हो या फिर एंड्राइड user सभी सॉफ्टवेयर में यह सेंध लगा सकता है| ZECOPS नाम की एक साइबर सिक्यूरिटी एजेंसी ने यह दावा किया है की IPHONE हो या आइपेड्स सभी में लूप होल है जिसका फायदा यह सॉफ्टवेयर आसानी से उठा सकता है|
 
एंड्राइड 4.4 या फिर उससे भी अधिक वर्सन वाले सॉफ्टवेयर में ग्राफ़िक्स से जूरी खामिया है जिसके कारन पेगासस सॉफ्टवेयर आसानी से इसका फायदा उठा सकता है| यहाँ तक की whatsapp में भी खामियों क फायदा यह आसानी से उठा सकता है|
 
एमनेस्टी के दावे के मुताबिक अगर इन सारी कंपनिया अपने लूपहोल का तोर भी निकाल ले फिर भी यह पेगासस सॉफ्टवेयर आसानी से इस प्रकार के फ़ोन में सेंध लगा सकता है | एवं उनके लूप होल्स का फायदा उठा सकता है जिसे हम आसानी से इस्तेमाल करने से डरेंगे | अतः इसलिए google अपने प्रोडक्ट को बेहतर से बेहतर बनाने की कोशिश कर रही है जिससे PRGASUS SOFTWARE जैसे सॉफ्टवेयर से बचा जा सके |
 

क्या जीरो क्लिक अटैक से बचना संभव है:

ऐसे अटैक से बचना बहुत मुश्किल है लेकिन इनका तोर बस 1-2 उपाय के जरिये ही किया जा सकता है| क्युकी इस प्रकार के अटैक जब होते है तब हमें पता ही नहीं चलता है की हमारा फ़ोन में किसी प्रकार का अटैक हुआ है| अतः हम अगर इस प्रकार के अटैक से बचना है तो हमे या फिर app का प्रयोग करना बंद करना होगा या फिर जितने भी app है सभी को अपडेट रखने की जरुरत है|
 
अतः हम app का प्रयोग न करे एवं अपने कार्यो के लिए,BROWSER का प्रयोग कर सकते है| जिससे हम बहुत हद तक अपने फोंस को बचा सकते है| एवं इसे बचने के लिए आप अपने घरवालो को भी ब्राउसर का इस्तेमाल करने की नसीहत दे सकते है | जिसकी मदद से आप अपने घर के सदस्यों की privacy को एवं साथ ही साथ उनके फोंस को भी बचा सकते है |
 
हालाँकि सरकार के हिसाब से आम नागरिक की privacy को किसी प्रकार की हनि नहीं होनी चाहिए फिर भी लोगो के मन में संका का विषय है जो की एक जायज है|
 

पेगासस को लेकर आई NYT की REPORT:

बीते कुछ दिनों से एक न्यूज़ पूरी चर्चा में रहा है जिसमे NYT नामक कम्पनी ने यह कहा है की जब भारत के प्रधान मंत्री इसराइल के दौरे पर गए थे,तब भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं इसराइल के प्रधान मंत्री बेंजामिन नित्येनाहू के बिच कुछ समझौता हुआ था | भारत के इतिहास में इसराइल का दौरा करने वाले नरेंद्र मोदी पहले व्यक्ति थे जिन्होंने 2017 में दूसरी बार प्रधान मंत्री बनने के बाद इसराइल का दौरा किया था |

NYT की रिपोर्ट के अनुसार भारत सरकार ने पेगासस वायरस को इसराइल की सरकार से खरीदी थी| इस सौदे के साथ कुछ मसाइल का सौदा भी इसराइल की सरकार के साथ हुआ था जिसे भारत सरकार ने 2 बिलियन में डील को पक्का किया था | कई देशो ने पेगासस के ऊपर बेन लगया हुआ हहै|

हालाँकि इसराइल की सरकार के हिसाब से यह एक एसा वायरस है जिसे देश की सुरक्षा में इस्तेमाल किया जा सकता है PEGASUS SOFTWARE की सहायता से देश में हो रही आतंकवादी गतिविधियों को रोकने में यह वायरस काफी कारगर सिद्ध हो सकता है| गत वर्ष PEGASUS SOFTWARE को लेकर काफी हंगामा हुआ था जिसमे विपक्ष ने सरकार को privacy को लेकर उन्हें घेरने की कोसिस पार्लियामेंट में की थी |

बीते कुछ दिनों में यह खबर फिर से हर लोगो की जुबान में है जिसे NYT की रिपोर्ट के कारन लाइम लाइट मिली है | यह खबर सुनने के बाद फिर से विपक्ष सरकार को घेरने की रण निति बना रही है| अब मोदी सरकार इस चुनौती से कैसे निजात पाएँगे यह देखने की बात है|

दोस्तों हम आपको बताना चाहते है की बीते वर्ष ही इसराइल में नितेन्याहू की सरकार गिर चुकी है अब इसराइल में किसी दूसरी सरकार है जिसने इसराइल की जिम्मेदारी उठाने का दारोमदार मिला है |

PEGASUS SOFTWARE से जुरे अंतिम सब्द:

उम्मीद है आपको हमारा यह पोस्ट WHAT IS PEGASUS SOFTWARE? जाने पूरी जानकारी 2021 में? अच्छा लगा होगा | इस पोस्ट में हमने पेगासस सॉफ्टवेयर से जुरे हर प्रकार की जानकारी अपने पाठको को देने की कोशिश की है जिससे हमारे पाठको को पेगासस से जूरी हर जानकारी इस पोस्ट में मिल सके, एवं यह जानकारी पाकर उन्हें वेल्यु मिल सके साथ ही साथ  उन्हें किसी दुसरे आर्टिकल में जाने की जरुरत न हो|
 

यदि आपको हमारा यह पोस्ट WHAT IS PEGASUS SOFTWARE? अच्छा लगा तो कृपया इसे फेसबुक  ट्विटर इंस्टाग्राम लिंकडइन  व्हाट्सएप में शेयर करें| अगर आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते हैं तो कृपया कमेंट बॉक्स में अपना सुझाव हमें दें|

हमारे साथ जुड़ने के लिए hindimetrnd.in के facebook page से जरूर जुड़े

धन्यवाद..

Leave a Comment

WHAT IS PEGASUS SOFTWARE?
WHAT IS PEGASUS SOFTWARE?