कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा का उद्घाटन 20 oct / KUSHINAGAR INTERNATIONAL AIRPORT INAUGRATION 20 OCT 2021

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा का सुभ आरम्भ 20 अक्टोबर 2021 को हमारे देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया| आज हम इस पोस्ट में कुशीनगर से जूरी हर छोटी बरी जानकारी आप सभी को देने की कोशीश करेंगे,और जानेंगे की क्यों उत्तर प्रदेश में तीसरे अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे की जरुरत परी|

वैसे तो उत्तर प्रदेश में दो अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहले से ही मौजूद है हम अपने पाठको को बताना चाह्रते है की 2 हवाई अड्डे में एक का नाम चौधरी चरण सिंह अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा है जो लखनोऊ में स्थित है एवं दूसरा लाल बहादुर शास्त्री अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा मौजूद है|

परन्तु भारत के प्रधान मंत्री ने राज्य सरकार के सहयोग से जनवरी 2014 में कुशीनगर को बौध धर्मो के लोगो को एक सोगात देते हुए तीसरे अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डे को बनाने की मंजूरी दी,जिसमें राज्य एवं केंद्र दोनों ने मिलकर बनाने की मंजूरी दी | वैसे कुशीनगर का एक अहम् योगदान है बौध धर्मो के लोगो के लिए| क्यूंकि गौतम बुध का मृत्यु इस जगह हुई थी अतः इस क्षेत्र को मध्यनजर रखते हुए क्षेत्र को अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा का सौगात मिला है जिसे पर्यटन के क्षेत्र से भी अहम् माना जा रहा है|

यदि आप कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे से जूरी जानकारी पाना चाहते है तो यह पोस्ट आपके लिए है, हम आशा करते है की इस पोस्ट के अंत तक पढने के बाद आपको इस हवाई अड्डे से जूरी हर जानकारी मिल जाएगी|

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा का रोड मैप बनना

इस राज्य में हवाई अड्डा बनने की नीव 24 जून 2021 को भारत के यूनियन केबिनेट के चेयरमैन श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया गया था,और इसी दिन से भारत के UP राज्य में तीसरे अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डे की खबर हमारे सामने आई थी | यह भारत का 29th वा अनाताराष्ट्रीय हवाई अड्डा है| जिसे पर्यटन क्षेत्र को देखते हुए बनाया जा रहा है| यह हवाई अड्डा PPP मॉडल के तहत AAI एवं राज्य सरकार के सहयोग से बनाया जा रहा है|

फ़रवरी 2021 में DGCA (DIRACTORATE GENRAL OF CIVIL AVIATION) के द्वारा सभी NECCESSARY CLEARANCE को मंजूरी दी गई और एवं oct 20 यानि अभिनन्दन दिवस के मौके पर कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा का उद्घाटन बारे ही भव्य रूप से किया गया|

ये भी पढ़े: free-fire-max-launched

सर्च कंसोल इनसाइट क्या होता है

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा की क्या भूमिका है

वैसे तो यह एक महत्वपूर्ण राज्य के रूप में गिना जाता है क्युकी अन्तराष्ट्रीय भूमिका को हुए भारत और नेपाल की सीमा इस राज्य से बस थोरी ही दूर स्थित है| अतः कुशीनगर को भगवान बुद्ध के लिए भी स्मरण किया जाता है, क्यूंकि भगवान बुद्ध महापरिनिर्वान इसी जगह पर हुआ था अतः इसीलिए भी इस स्थान का महत्व बौध धर्म को मानने वाले लोगो के लिए बढ़ जाता है| हालाँकि पुरे विश्व से बौध धर्मो के मानने वाले लोगो के लिए यह पर्यटन का एक अच्छा डेस्टिनेशन हो सकता है जहा लोग अगर भगवान बुद्ध के इतिहाश से अवगत हो सके|

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा बौध धर्मो के लोगो के लिए महत्वपूर्ण है

बौद्ध धर्मो के लोगो के लिए यह स्थान एक पवित्र स्थान से कम नहीं है अतः इस स्थान का महत्व बढ़ जाता है, भगवान् बौद्ध के पवित्र स्थान के बगल में ही इस कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा को बनाया गया है ताकि पुरे विश्व के बौद्ध धर्म के लोग इस पर्यटन स्थल का मजा ले सके| राज्य सरकार ने इस एअरपोर्ट एवं साथ ही साथ इस स्थान को अंतरास्ट्रीय पर्यटन स्थल बनाने में जोर दे रही है ताकि विश्व के लोगो यहाँ आकार पर्यटन का मजा ले सके|

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा के लिए AAI के द्वरा मिली मजूरी

यह एअरपोर्ट को विश्व स्तरीय बनाने के लिए राज्य सरकार एवं AAI (AIRPORT AUTHORITY OF INDIA) ने साथ मिलकर कम किया है एवं दोनों के सह्योग्फ़ से इस हवाई अड्डे का निर्माण किया है | इस हवाई अड्डे को PPP मॉडल के द्वारा बनाया गया है |जिसकी ESTIMETED वैल्यू 354 करोरे लगायागया है|

इस प्रोजेस्ट को राज्य सरकार ने जनवरी 2014 को मंजूरी दी थी एवं तब से लेकर इस हवाई अड्डे का कार्य चल रहा था| ध्यान देने वाली बात यह है की उत्तर प्रदेश राज्य की लखनोऊ(चौधरी चरण सिंह अंतराष्टीय हवाई अड्डा) ओर वाराणसी(लाल बहादुर शास्त्री अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा) के बाद यह तीसरी अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डा है|

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा के लिए बुद्ध की मूर्ति का आयोजन

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा को कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा इंटरनेशनल लेवल का बनाने के लिए यहाँ गौतम बुद्ध की एक बरी सी मूर्ति को विस्थापित किया गया है,जो शैलानियो को उच्च कोटि का अनुभव देंगे साथ ही साथ हवाई अड्डा को भी एक अच्छी विज़न देंगे |

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा के लिए श्रीलंका से अतिथि गानों का आगमन

इस हवाई अड्डे का उद्घाटन 20 ओक्टुबर 2021अभिनन्दन दिवस के उपलक्ष पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया | गौर करने वाली बात यह है की इस एअरपोर्ट में पहली फ्लाइट श्रीलंका से आई है जिसमे भारत के द्वारा आमंत्रित किये गए यात्रिगन थे |

श्रीलंकन एयरलाइन फ्लाइट के द्वारा लगभग 123 श्रीलंकन DELIGATES भारत आए थे जिसमे 12 बौद्ध धर्म के पवित्र लोग आए थे जिन्हें बौध धर्म में महानायक के नाम से जाना जाता है| इन 12 पवित्र महायानो के द्वारा ही एक रेली का संसोधन किया गया,जो हवाई अड्डे से शुरू होकर बुद्ध मंदिर तक आयोजन किया गया है|

कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा के कुछ अंतिम शब्द

तो यह थी कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा से जूरी हर जानकारि जिसे हमने अपने पाठको को देने की कोशिश की है| हम अपने पाठको को कुशीनगर अंतरास्ट्रीय हवाई अड्डा से जूरी है छोटी से छोटी जानकारी इस पोस्ट में देने की कोशिश की है ताकि हम अपने पाठको को पूरी जानकारी इस पोस्ट के जरिये दे सके |

यदि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया है तो कृपया आप इसे फेसबुक ट्विटर इंस्टाग्राम लिंकडइन व्हाट्सएप में शेयर करें|अगर आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते हैं तो कृपया कमेंट बॉक्स में अपना सुझाव हमें दें|

हमारे साथ जुड़ने के लिए hindimetrnd.in के facebook page से जरूर जुड़े

धन्यवाद..

ये भी पढ़े :whatsapp में dp का मतलब क्या होता है?

top-3-features-of-pdf

WHAT-IS-EMAIL-ADDRESD

user-id-kya-hota-hai

Leave a Comment