IN 4TH APRIL 2022 WANT TO KNOW HOW DOES WINDMILL WORKS? / पवन चक्की कैसे काम करती है जाने 4 अप्रैल 2022 में?

लेखक: गुड्डू राय

आज हमलोग इस आर्टिकल में देखेंगे की HOW DOES WINDMILL WORKS? /  पवन चक्की कैसे काम करती है? आज हमलोग 21वी सदी में जी रहे है जहा बिजली की आवश्यकता इतनी ज्यादा है इसका उदाहरण हम इस तरह से देख सकते है की जबी भी हमारे यहाँ बिजली चली जाती है तब हमलोग अत्यंत व्याकुल हो जाते है|आज के इस वर्तमान समय में ज्यादातर सभी के घरो में बिजली उपलब्ध है | हम 10 मिनट भी बिजली के बिना नहीं रह सकते है,हमारे रोजमर्रा के जीवन में बिजली का एक  अहम् योगदान है|

अगर हम ध्यान से देखे तो यह जान पाएँगे की पिछले कुछ वर्षो में बिजली की जरूरते बहुत ज्यादा बढ़ चुकी है|आज इस वर्तमान युग में जहा हम जी रहे है वहा जीतने सारे नए अविष्कारों की खोज की गई है उन सभी में से ज्यादातर उपकरण बिजली से चलने वाले  है|बिजली के उत्पन्न करने के कई भिन्न उपाय इस दुनिया में उपस्थित है| उन सभी उपायों में से एक है पवन ऊर्जा जो पवन चक्की के द्वारा निर्माण की जाती है|हमलोग इस आर्टिकल में यह जानेंगे की पवन चक्की से कीस प्रकार ऊर्जा निर्माण की जाती है? तो आइये शुरू करते है पवन चक्की से उर्जा का निर्माण  !

IN 4TH APRIL 2021 WANT TO KNOW HOW DOES WINDMILL WORKS? /  पवन चक्की कैसे काम करती है जाने 4 अप्रैल  2021 में?

पवन चक्की क्या है?(WHAT IS WINDMILL?/ HOW DOES WINDMILL WORKS):

HOW DOES WINDMILL WORKS-दोस्तों पवन चक्की को आगर हम एक मशीन कहेंगे तो गलत नहीं होगा| इसका कार्य वातावरण में फैली गतिजिय उर्जा अर्थात पवन यानि हवा को यांत्रिक उर्जा यानि काम में लाने वाली उर्जा के रूप में रूपांतरित करना है|  इस चक्की के सारे ब्लेड दक्षिण दिसा के तरफ हमेशा घूमते रहते है| इसका चक्की का मुख्य कार्य पवन उर्जा को विद्युत उर्जा में रूपांतरित करना होता है|
सन्न 1854 में अमेरिका शहर के एक व्यक्ति जिसका नाम डैनियल ह्ल्लादे था उन्होंने पहली बार पवन चक्की का निर्माण किया था| लेकिन वर्तमान समय में पुरे विश्व में विद्युत उर्जा का रूपांतरण करने के लिए पवन चक्की का उपयोग किया जाता है|
भारत जैसे बरे देश में भी पवन चक्की की मदद से बिजली का निर्माण बहुत बरे पैमाने में होती है|  भारत के सभी राज्यों में से तमिलनाडू एसा राज्य है जहा पवन चक्की की मदद से सबसे ज्यादा पवन उर्जा का निर्माण किया जाता है|
बिजली का प्रयोग दिनों-दिन बढ़ते जा रहे है,इन प्रयोगों को दखते हए पवन उर्जा हमारे लिए वरदान से कम नही है| बिजली का उपयोग हमलोग के जीवन में ऑक्सीजन की तरह हो गया है|  इन सभी चीजो को मद्देनजर रखते हुए देखते है की पवन चक्की कैसे कार्य करती है|
ये भी पढे:

पवन चक्की के कार्य करने का तरीका(HOW DOES WINDMILL WORKES?):

वैसे हम सभी को पता है की पवन चक्की उर्जा उत्पादन में बहुत मदद करती है,लेकिन जहा भी उर्जा उत्पादन का कार्य करने के लिए पवन चक्किया लगाईं जाती है, वह एक नहीं बल्कि अनेक चक्कियो को स्थापित किया जाता है क्यूकी एक चक्की बहुत कम मात्रा में उर्जा उत्पन्न करती है|
ताकी उर्जा भरपूर मात्र में हमें मिल सके| ऐसे क्षेत्रो को उर्जा उत्पन्न करने वाले फार्म यानी उर्जाफर्म के नाम से पुकारा जाता है| भारत के कई ऐसे सहर है जहा पवन उर्जा का उत्पादन काफी बरी मात्र में होत्ती है सिक्किम भी उनमे से एक राज्य है|
पवन चक्की का निर्माण कार्य की बरे पंखे के समान की जाती है,जिसमे एक ध्रुन के आकार का एक आधारशिला बनाया जाता है जिसमे बरे बरे जायंट रूपी पंखे की तरह ब्लेड जो हल्के मुरे अर्थात झुके रहते है उन्हें लगाया जाता है,ताकि हवा के अनुसार उस चक्की को घुमा सके|
जैसे जैसे उस चक्की के पंखे की गति बढती जाती है,हवा की गति भी पंखे के अनुसार परिवर्तित होती रहती है| और चक्की के पंखे को निचे से लेकर सिरे तक घुमाया जाता है| लेकिन इस तरह के घुमाव को सीधे बिजली से नही जोरा  जाता है,क्युकी टरबाईन बहुत धीमी RPM पर चल रही होती है|
चक्की के पंखे को धीमे गति से घुमाया जाता है और इसे ध्यान में रखते हुए,जनरेटर से उतनी ही बिजली उत्पन्न कर पाएँगे जितनी की चक्की को चलने में जरुरत होती है|  यही कारन है की चक्की को बिजली यानि जेनरेटर से जोरने से पहले ही चक्की की गति को गेयर बॉक्स में बढ़ा दिया जाता है| गति को अनुमानित मात्र में बढाने के लिए गियरबॉक्स में एक और तरह के गियर का प्रयोग किया जाता है जिसे प्लेनेटरी गियर कहा जाता है|
बिजली को अधिक मात्र में पैदा करने के लिए चक्की के पंखे का मुह हवा के बहाव के तरफ होना चाहिए ,लेकिन इसमें समाश्या यह है की हवा का दिशा किसी भी वक्त बदल सकती है|  अतः इसी कारन चक्की के ऊपर के सिरे में एक सेंसर लगा होता है जिसे वेलोसिटी सेंसर कहा जाता है| जिसका कार्य वातावरण में फैली हवा की दिशा और गति को मापना होता है और दसा एवं गति को माप कर सेंसर एक इलेक्ट्रिक कंट्रोलर को भेज देती है|
पवन चक्की में लगे याविंग मशीन को सीधे संकेत भेजता है, और जैसे ही याविंग मशीन को किसी तरह का संकेत सेंसर और इलेक्ट्रीक कंट्रोलर द्वारा मिलता है वह उन पंखो को हवा की अनुरूप घुमा देती है | जिसके कारन पवन चक्की कभी भी बंद नहीं होती |
इस चक्की में एक ब्रेक लगा होता है जिसका काम अधिक तेज हवा के चलने की परीस्थिति में विंडब्लेड के रोटेशन यानि घुमाव को कैद करना होता है|  जिसके कारन जो बिजली पैदा होती है उन सभी उर्जाओ को एक खम्बे पर लगे तार यानि केबल के जरिये बेस जहा बनाया जाता है उस बेस की तरफ उर्जा को स्थानांतरित यानि भेजा जाता है|  जहा एक ट्रांसफोर्मर को पहले से ही तैयार रखा जाता है|
ट्रांसफार्मर का कार्य उत्पन्न हुई विद्युत ऊर्जा को एक परिपात से दुसरे परिपात में अपेक्षित वोल्ट पर भेजना होता है| अंत में उत्पन्न व्युद्युत को पावर-ग्रिडों पर भेज दिया जाता है|  जहा से लोगो के घरो से लेकर दुकानों,फक्ट्रियो एवं बरे बरे कंपनियों को बिजली भेजी जाती है एवं हम उनका उपभोग करते है|
IN 4TH APRIL 2021 WANT TO KNOW HOW DOES WINDMILL WORKS? /  पवन चक्की कैसे काम करती है जाने 4 अप्रैल  2021 में?

HOW DOES WINDMILL WORKS में पवन चक्की से होने वाले फायदे(BENIFITS OF WINDMILL):

आज के इस वर्तमान समय में हम उर्जा को अनेक रूप में उपयोग करते है | पवन उर्जा से होने वाले कुछ लाभ इस प्रकार है:
  • पवन उर्जा एक साफ उर्जा का स्रोत है जिससे पर्यावरण को किसी भी तरह की हनी नहीं होती है|
  • यह उर्जा कम लगत में हमे स्वच्छ उर्जा उपलब्ध कराती है|
  • यह उर्जा हमेसा बनती रहती है|
  • इस उर्जा से काफी बरी संख्या में रोजगार उत्पन्न हिता है|
  • घरो में हम पवन उर्जा से उत्पन्न बिजली का प्रयोग करते है|
  • काफी बरी जगह की जरुरत नहीं लगती है पवन चक्की को लगाने में|
  • जिस जगह में बिजली की अनुपस्थिति होती है उन जगहों के लिए काफी कारगर साबित होती है|

HOW DOES WINDMILL WORKS में पवन चक्की से होने वाले नुकसान:

जैसे की हमे पवन चक्की से फायदे होते है तो इसके कई नुकसान भी है जो निम्न है:
  • विद्युत उर्जा उत्पन्न करने के लिए वायु की गति 15 k.m. प्रति घंटा होनी चाहिए जो काफी जगहों में उपलब्ध नहीं होती है|
  • हवा की अनुपस्थिति में हमे आवश्यकताओ की पूर्ति के लिए दुसरे उपाय खोजने परते है|

HOW DOES WINDMILL WORKS/पवन चक्की के कुछ अंतिम शब्द:

तो दोस्तों आपको हमारी यह आर्टिकल IN 4TH APRIL 2022 WANT TO KNOW HOW DOES WINDMILL WORKS? /  पवन चक्की कैसे काम करती है जाने 4 अप्रैल  2022 में? कैसी लगी? हम अपने पाठको के लिए साडी जानकारी इस आर्टिकल में देने की कोसिस की है जिससे हमारे पाठको को किसी दुसरे आर्टिकल में जाने की जरुरत न हो|

अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा तो कृपया इसे facebook,instagram twiter linkdin whatsapp में शेयर जरुर करे एवं यदि आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते है तो हमे कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट जरुर करे |

यदि आप hindimetrnd.in के साथ जुरना चाहते है तो कृपया हमारे फेसबुक पेज को लाइक करना न भूले hindimetrnd/facebookpage 

ये भी पढ़े :

Leave a Comment