ICU MEANING 2021-ICU की पूरी जानकारी-ICU EMERGENCY

लेखक:मोनू शर्मा राय

ICU meaning in 2021 इस पोस्ट में हम अपने पाठकों से आईसीयू मीनिंग से जुड़ी हर एक जानकारी साझा करेंगे जिससे हमारे पाठकों को आईसीयू मीनिंग इन 2021 से जुड़े हर एक जानकारी मिल सके

हम हम सभी को पता है की आईसीयू मैं किसी को भारती होने का एकमात्र कारण होता है की जो व्यक्ति आईसीयू में दाखिला हुआ है उनकी हालत बहुत गंभीर है वह जिंदगी और मृत्यु के बीच जूझ रहा है

दोस्तों हम सभी को पता है कि हॉस्पिटल में आईसीयू का अलग वार्ड होता है जिसमें उन मरीजों को रखा जाता है जिनकी हालत गंभीर है हालांकि कभी-कभी इनमें से किसी की मृत्यु भी हो जाती है लेकिन ज्यादातर मरीज ठीक होकर वापस अपने घर पहुंच जाते हैं

आगे हम इस पोस्ट में जानेंगे की आईसीयू मीनिंग इन 2021 की पूरी जानकारी अगर आपने हमारा पिछले पोस्ट ओपीडी क्या है से जुड़ी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारा पोस्ट ओपीडी Jankari in 2021 को पढ़ सकते हैं

What is ICU-ICU kya hai full form of ICU

जिस तरह से एक हॉस्पिटल में ओपीडी होना निश्चित है उसी प्रकार एक हॉस्पिटल में आईसीयू का होना भी अनिवार्य है क्योंकि जब भी हॉस्पिटल में ऐसे मरीजों आते हैं जो जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे हैं उन्हें आईसीयू में रखा जाता है

वैसे तो जितने भी हॉस्पिटल्स होते हैं उनमें काम करने वाले लोग काफी बड़ी मात्रा में हॉस्पिटल के मरीजों की देखभाल के लिए तैयार रहते हैं लेकिन क्या आपको पता है आईसीयू में मरीजों की देखभाल करने के लिए नर्सों एवं डॉक्टरों की संख्या 24 घंटे उपलब्ध रहती है

ताकि जब भी किसी मरीज को इमरजेंसी ट्रीटमेंट की जरूरत पड़े तो डॉक्टर हमेशा उनके पास उपस्थित रहे आईसीयू में जरूरत की हर वह सामान उपस्थित रहती है जैसे ऑपरेशन करने के अवतार जरूरी दवाइयां वैक्सीन ventilators ऑक्सीजन आदि जरूरी चीजें उपलब्ध रहती है चौबीसों घंटे|

ICU MEANING 2021-ICU की पूरी जानकारी-ICU EMERGENCY

आईसीयू का फुल फॉर्म इंटेंसिव केयर यूनिट है जिसे हिंदी में गहन चिकित्सा विभाग के नाम से जाना जाता है|

ये भी पढ़े:what-is-pingomatic-3-features

search-consol-insight जाने पूरी जानकारी

top-3-features-of-pdf

मरीजों को आईसीयू में कब एडमिट किया जाता है

जब भी कोई मरीज ऐसी अवस्था में रहती है जब उन्हें आम चिकित्सा की नहीं बल्कि एडवांस चिकित्सा की जरूरत पड़ती है ऐसे में मरीजों को आईसीयू मैं एडमिट किया जाता है जिसमें हॉस्पिटल के टॉप डॉक्टर उन मरीजों का इलाज करते हैं साथ ही साथ उनकी देखभाल के लिए नर्सों एवं सहायक लोग हमेशा तैयार रहते हैं

जैसे ही मरीज सामान्य होने लगते हैं तो उन्हें हॉस्पिटल के नॉर्मल वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाते हैं आईसीयू से निकालकर आईसीयू मैं हर वक्त बेड की उपस्थिति नहीं रहती है अतः कभी-कभी मरीजों को पहले से ही नाम दाखिला करा कर रखना पड़ता है ताकि जैसे ही अंबेडकर ली हो तो उन्हें माया करा दिया जाए

बहुत लोगों को यह मालूम नहीं होगा की अगर कोई शिशु समय से पहले जन्म ले लेता है तो उन्हें ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिलते रहें एवं किसी प्रकार की हानि ना हो तो उस क्षेत्र में उन्हें आईसीयू में रखा जाता है ताकि बचा सही सलामत रह सके

आईसीयू मैं किस प्रकार का इलाज किया जाता है

ICU meaning in 2021 मैं हम जानेंगे के आईसीयू में किस प्रकार के बीमारी का इलाज किया जाता है

वैसे तो हम सभी को पता है की आईसीयू मैं सबसे खराब कंडीशन वाले मरीजों को रखा जाता है आईसीयू में होने वाले कुछ इलाज इस प्रकार के हैं

  • बहुत बड़ा accident होने पर उन्हें आईसीयू में रखा जाता है जिनकी एक्सीडेंट से बचने के चांस बहुत कम होती है हालांकि सभी मरीज नहीं मरते हैं लेकिन सभी प्रकार की सुविधा उपलब्ध होने के कारण अत्यधिक मरीज बच कर अपने घर सही सलामत जाते हैं
  • अगर किसी मरीज को अचानक से दिल का दौरा पड़ जाता है तो उन मरीजों को तुरंत ही आईसीयू वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है ताकि डॉक्टर की निगरानी में उनकी चिकित्सा सही प्रकार से की जाए
  • अगर किसी प्रकार का पेशेंट कोमा यानी अपना याददाश्त खो देता है तो ऐसे मरीजों को आईसीयू वार्ड में रखा जाता है
  • Brain से जुड़े किसी प्रकार की सर्जरी यानी ऑपरेशन करने के बाद पेशेंट को आईसीयू में रखा जाता है
  • डायलिसिस वाले मरीजों को जिनके किडनी फेलियर हो जाते हैं एवं किडनी से रिलेटेड सर्जरी करने पड़ती है ऐसे मरीजों को आईसीयू वार्ड में शिफ्ट किया जाता है

आईसीयू वार्ड में मरीज के साथ क्या किया जाता है

जैसे ही किसी मरीज को आईसीयू वार्ड में रखा जाता है आठवां एडमिट किया जाता है तो उस मरीज को तुरंत ही स्पेशलिस्ट नर्स एवं डॉक्टर की निगरानी में रखा जाता है उसके हेल्थ यानी कंडीशन को मॉनिटर करने के बाद उन्हें किस प्रकार की इलाज की जरूरत है इसकी जांच पड़ताल की जाती है इसमें काफी समय लगता है

जिन भी मरीजों को आईसीयू में राखा जाते हैं उनके घर वालों या परिजनों को उनसे मिलने की अनुमति नहीं दी जाती हैं क्योंकि या नियम के खिलाफ है जब भी किसी मरीज को जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है उसके बाद उसके घर वाले उनसे मिल सकते हैं लेकिन आईसीयू वार्ड में या मुमकिन नहीं है इस समय घर के लोग बहुत परेशानी में रहते हैं कि अंदर उनके मरीज के साथ किस प्रकार का इलाज किया जा रहा है

आईसीयू में किस प्रकार के उपकरण उपलब्ध होता है

अगर कभी आपके किसी प्रियजन या रिश्तेदार ऐसे एडमिट हुआ होगा तो आपको पता होगा आईसीयू में एडवांस उपकरण उपस्थित होती है

हालांकि अगर कोई व्यक्ति पहली बार आईसीयू में गया होगा तो भरोसा है नहीं मिलेगा कि इतनी एडवांस मशीनरी हमारे भारत के आईसीयू में उपलब्ध होती है हर प्रकार की एडवांस उपकरण आईसीयू में उपस्थित होती है

इन उपकरणों में डायलिसिस मशीन हॉट मॉनिटर मशीन ईसीजी मशीन ventilator oxygen cylinder आदि हाईटेक मशीन आईसीयू मैं उपस्थित होते हैं

ICU full form in Hindi

आईसीयू को हिंदी में गहन चिकित्सा विभाग के नाम से जाना जाता है एवं अंग्रेजी में Intensive Care unit के नाम से जाना जाता है

एनआईसीयू/NICU meaning in Hindi

एनआईसीयू का मतलब होता है गहन देखभाल इकाई इस इकाई में जब भी कोई शिशु समय से पहले जन्म ले लेता है एवं उनकी देखभाल के लिए विशेष प्रकार के कमरे की जरूरत पड़ती है तब इस प्रकार के शिशुओं को एन आई सी यू यानी नवजात गहन चिकित्सा इकाई में रखा जाता है

Iccu full form in Hindi

गहन कोरोनरी केयर यूनिट यानी आईसीसीयू अथवा गहन कार्डियक केयर यूनिट एक ऐसा विभाग है जिसमें दिल के दौरे एवं दिल से जुड़ी जितने भी बीमारी वाले रोगी आती है उन्हें विशेषज्ञों की निगरानी में इस रूम में उनका उपचार किया जाता है

N i c u full form in Hindi

हालांकि हमने पहले ही एनआईसीयू का मतलब आप लोगों से साझा कर चुके हैं वैसे एनआईसीयू को हिंदी में नवजात गहन चिकित्सा इकाई के नाम से जाना जाता है

What is the meaning of critical care in the management of disaster from medical department in hindi

मेडिकल डिपार्टमेंट के द्वारा डिजास्टर मैनेजमेंट के समय क्रिटिकल केयर यूनिट यानी सीसीयू का मतलब होता है कि जब भी कोई मरीज ऐसी अवस्था में आईसीयू में पहुंचे जब उनकी हालत बहुत खराब हो और मरीज जिंदगी एवं मृत्यु से जूझ रही हो इस कंडीशन में मरीजों को विशेषज्ञ एवं डॉक्टरों की निगरानी में CCU में रखा जाता है जहां उन मरीजों को बचाने की कोशिश डॉक्टरों द्वारा 24 घंटे की जाती है

What do you mean by double support in an icu setting(i c u में ज्यादा सपोर्ट से आप क्या समझते है)

आईसीयू में डबल सपोर्ट का मतलब होता है जब भी किसी मरीज को डॉक्टर की जरूरत होंगी और अगर दुर्भाग्यवश वह डॉक्टर वहां स्थित ना हो तो तुरंत ही उनकी अनुपस्थिति में दूसरा डॉक्टर उपलब्ध होकर उस मरीज का इलाज करना पड़ता है

इसे हम समझ सकते हैं कि आईसीयू में हर वक्त चौबीसों घंटे डॉक्टर एवं नर्स ज्यादा मात्रा में उपस्थित होते हैं

आज आपने क्या सीखा

तो यह थी हमारी आई सी यू मीनिंग इन 2021 ICU ki puri jankari ICU emergency जैसे जुड़ी हर प्रश्नों का उत्तर आपको इस पोस्ट में देखने को मिल जाएगा

हमने इस पोस्ट में अपने पाठकों के लिए आई सी यू मीनिंग इन 2021 से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी साझा करने की कोशिश की है ताकि हमारे पाठकों को किसी दूसरे आर्टिकल में जाने की जरूरत ना हो

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक टि्वटर इंस्टाग्राम व्हाट्सएप लिंकडइन मैं शेयर करें अगर आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में जरूर कमेंट करें|

हमारे साथ hindimetrnd.in जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें

धन्यवाद..

ये भी पढ़े:UGC-KYA-HAI-UGC-KYA-KAAM-KARTA-HAI-UGC-MEANING

google-io-2021-in-hindi

Leave a Comment