OPD KYA HAI?-OPD में क्या काम होता है-OPD FULL FORM 2021

लेखक:मोनू शर्मा राय

क्या आपको पता है opd kya hai? ओपीडी में क्या काम किया जाता है? opd ka full form 2021 अगर आप इस प्रकार के सवालों का जवाब चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए हैं|

ओपीडी से जुड़ी हर छोटी से छोटी जानकारी आप सभी को इस पोस्ट के द्वारा मिलेगी|

ओ पी डी जानकारी इकट्ठा करना चाहता है तो यह पोस्ट को जरूर पढ़ें|

OPD ka full form

OPD KYA HAI ओपीडी का फुल फॉर्म होता है outpatient department

what is OPD(OPD KYA HAI) full form in Hindi

ओपीडी को हिंदी में आउटपेशेंट विभाग के नाम से जाने जाते हैं| यह एक ऐसा विभाग है, जिसमें मरीजो के रोगों का उपचार हॉस्पिटल में सरकारी डॉक्टरों की देख रेख में की जाती है|

OPD FULL FORM IN GUJRATI(गुजराती में opd का फुल फॉर्म)

गुजरती में OPD का फुल फॉर्म होता है આઉટપેશન્ટ ડિપાર્ટમેન્ટ
 

OPD FULL FORM IN MARATHI( मराठी में OPD का फुल फॉर्म क्या होता है?)

मराठी में OPD का फुल फॉर्म बह्यरुगन विभाग के नाम से जहाना जाता है|
 
ये भी पढ़े:

OPD KYA HAI एवं opd का मतलब क्या होता है?

ओपीडी क्या है(OPD KYA HAI) के बारे में जानने से पहले हमें यह जानना जरूरी है कि OPD KYA HAI? किस प्रकार ओपीडी में रोगियों का इलाज क्या जाता है?

दोस्तों साधारण तकनीक से हम जानेंगे की OPD KYA HAI?

मान लीजिए आपके घर में किसी व्यक्ति को साधारण सर्दी या बुखार हो चुकी है, जो थम नहीं रही है अतः ऐसे में हम सबसे पहले हॉस्पिटल की तरफ रुख करते हैं

हॉस्पिटल में जाकर पंजीकरण के द्वारा अपने नाम की 1 पर्ची लेते हैं जो पर्ची विभाग में दिया जाता है|

जिसमें हमारा नाम, वर्ष यानी आयु एवं हमें क्या तकलीफ है इसके बारे में पूछा जाता है|

OPD KYA HAI?-OPD में क्या काम होता है-OPD FULL FORM 2021

फिर हमें कौन से डॉक्टर को दिखाना है? और वह डॉक्टर कहां बैठा है? ऐसी जानकारी हमें उस पंजीकरण विभाग वाले व्यक्ति से मिल जाती हैं अतः ओपीडी में तरह-तरह के विभाग के डॉक्टर मरीजों को देखने के लिए बैठे रहते हैं|

हम आपको बता दें कि यह सारे डॉक्टर बिल्कुल निशुल्क आपकी जांच करते हैं|

क्योंकि इन्हें सरकार द्वारा हॉस्पिटल में साधारण लोगों के इलाज के लिए रखा जाता है ताकि हमें पूरी तरह से इलाज मिल सके |

दोस्तों जिन लोगों को ऐसी बीमारी होती है जिन्हें हॉस्पिटल में भर्ती होने की जरूरत ना हो ऐसे व्यक्तियों को ओपीडी में स्थित डॉक्टरों द्वारा इलाज क्या जाता है|

ओपीडी के अंदर हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध होती है जो हमें बाहर पैसा देकर करानी होती है जैसे एक्स-रे, मेडिकल टेस्ट, डायग्नोस्टिक से जुड़े सारी सुविधाएं ब्लड टेस्ट आदि जैसे मेडिकल सुविधाएं हर हॉस्पिटल में उपलब्ध होती हैं|

ताकि लोगों को हॉस्पिटल में ही सारी सुविधाएं मिल सकें एवं प्राइवेट सुविधाओं में ज्यादा पैसे खर्च ना करें|

OPD अक्सर हॉस्पिटल के निचले यानी ग्राउंड फ्लोर में होता है जिसमें कई सारे विभाग होते हैं|

जैसे सर्जन विभाग, नाक कान एवं गला विभाग, गायनो विभाग, फिजीशियन विभाग आदि जैसे कई तरह के विभाग होते हैं जिसमें मरीज अपने हिसाब से उन विभाग में जाकर अपना इलाज करवा सकते हैं|

अगर डॉक्टर किसी प्रकार का टेस्ट देते हैं तो हॉस्पिटल के लोगों द्वारा उन मरीजों को जानकारी दे दी जाती हैं की आप हॉस्पिटल मैं ही टेस्ट करवा कर सरकारी सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं|

OPD कहां स्थित होती हैं

अक्सर हम देखते हैं की ओपीडी यानी आउटपेशेंट डिपार्टमेंट को ज्यादातर हॉस्पिटलों में ग्राउंड फ्लोर यानी नीचे के विभाग में रखा होता है जहां साधारण रोगों के मरीज जाते हैं डॉक्टर की सलाह लेते हैं एवं डॉक्टर द्वारा लिखे गए दवाइयों का निशुल्क हॉस्पिटल द्वारा लेकर इसका लाभ उठाते हैं

इस प्रकार के मरीजों को हॉस्पिटल में भर्ती होने की जरूरत नहीं होती हैं ऐसे मरीज ओपीडी में दिखाकर डॉक्टरों से सलाह लेकर अपना इलाज घर में रहकर भी कर लेते हैं|

मरीजों के प्रकार

वैसे तो बहुत लोगों को यह मालूम नहीं होगा कि मरीजों के प्रकार भी होते हैं लेकिन साथियों हम आपको बता दें कि मरीज दो प्रकार के होते हैं कैसे आगे हम जानेंगे?

  • Outpatient
  • In patient

Outpatient

ऐसे मरीज जिन्हें ज्यादा देर तक हॉस्पिटल में रहने की जरूरत नही परती है उसे आउटपेशेंट यानी बाह्य मरीज कहा जाता है ऐसे मरीजों को 24 घंटे से कम ही हॉस्पिटल में रहने की जरुरत परती है|

ये मरीज अपनी रोग को घर में रहकर साधारण इलाज के द्वारा अपना इलाज कर लेते है|

In patient

ऐसे मरीज जो हॉस्पिटल में रात भर रहने की उपस्थिति में आते हैं उन्हें इनपेशेंट मरीज के रूप में जाना जाता है|

क्या इमरजेंसी ओपीडी का एक भाग है

जी हां दोस्तों आप ऐसा समझ सकते हैं इमरजेंसी विभाग में हमेशा 24*7 कोई ना कोई doctor, नर्सेज आदि उपलब्ध होते हैं, जो इमरजेंसी में लाए गए मरीजों का देख रेख करते हैं|

ऐसे में अगर किसी भी मरीज को ज्यादा तकलीफ होती है तो उसे इनपेशेंट की श्रेणी में रखा जाता है अर्थात उन्हें रात भर हॉस्पिटल में गुजारना पड़ता है या कभी-कभी रोग इतनी ज्यादा रहती है कि उन्हें आईसीयू में भी रखा जाता है|

कई प्रकार के मरीज ऐसे भी होते हैं जो अचानक बीमार हो जाते है एवं उन्हें डॉक्टर की सलाह की जरुरत होती है एवं एमरजेंसी में आने के बाद जब उन्हें डॉक्टर घर में ही रहने की सलाह देते है इस प्रकार के मरीज को outpesent की श्रेणी में रखा जाता है|

ओपीडी विभाग मैं कितनी सेवाएं उपलब्ध है

वैसे तो हम अपने घर या अपने दोस्तों से जुड़ी साधारण रोग के इलाज के लिए हॉस्पिटल की तरफ रुख करते हैं लेकिन बहुत लोगों को नहीं पता होता है कि ओपीडी में कई प्रकार की सेवाएं निशुल्क दी जाती है

  • Diagnostic
  • परामर्श यानी कंसल्टेंसी विभाग
  • ExaminationRoom
  • फार्मेसी विभाग

OPD KYA HAI या अस्पताल का संक्षिप्त रूप क्या होता है

वैसे तो ओपीडी का कोई संक्षिप्त रूप नहीं होता है पूरे हस्पताल में ओपीडी ही एक ऐसा विभाग होता है जिसमें लोग आसानी से अपना इलाज करा कर घर जा सकते हैं |

अर्थात देखा जाए तो ओपीडी ही अस्पताल का सबसे संक्षिप्त रूप होता है

OPD KYA HAI एवं ओपीडी का विस्तृत रूप क्या होता है

वैसे तो हॉस्पिटल में कई तरह के विभाग होते हैं लेकिन ओपीडी का विस्तृत रूप IPD होता है जिसे हम in patient डिपार्टमेंट के नाम से जानते हैं अर्थात इन्हें इंडोर पेशेंट डिपार्टमेंट के नाम से भी जाना जाता है|

जिनमें मरीजों को सावधानीपूर्वक बेड में रखा जाता है एवं अस्पताल में भर्ती कि जाती हैं इनके भी कई विभाग होते हैं जैसे आईसीयू ccu इन सभी विभागों का मिला जुला रूप ही ipd कहलाता है|

WhatWhat is OPD and ipd full फॉर्म इन हिंदी

Opd का फुल फॉर्म होता है outpatient department यानि outpatient विभाग

IPD का फुल फॉर्म होता है inpatient department इसे इंडोर पेशेंट विभाग के नाम से भी जाना जाता है

IPD क्या है और opd क्या है

दोस्तों आईपीडी एक ऐसा विभाग है जिसमें मरीजों को 24 घंटे से ज्यादा अस्पताल में रखा जाता है जिन्हें इंपेशेंट डिपार्टमेंट इंपेशेंट डिपार्टमेंट के नाम से भी जाना जाता है|

साधारण रूप से इस विभाग में मरीजों को दो चार दिनों के लिए रखा जाता है एवं उनका इलाज डॉक्टरों एवं नर्सों की देखभाल में किया जाता है|

वही ओपीडी एक ऐसा विभाग है जिसमें मरीजो को 24 घंटे से भी कम समय के लिए अस्पताल में रहने की जरुरत पारति है|

लोग साधारण रोग को डॉक्टर का सलाह लेने के लिए ओपीडी की तरह रुख करते है जिन्हें मौजूद डॉक्टर देख कर उन्हें उचित दवाइया दे देते है|

क्या ओपीडी खुला है

दोस्तों ओपीडी हफ्ते में 6 दिन खुली रहती है एवं रविवार को बंद रहती है|

OPD सुबह 9:00 बजे से खुल जाती है एवं जब तक मरीज रहते हैं तब तक खुली रहती है|

ओपीडी में पेशेंट को क्या करते हैं

OPD में पेशेंट के रोगों का उपचार करने के लिए डॉक्टरों द्वारा निशुल्क सेवा के तौर पर उन्हें देखा जाता है|

और उनकी जांच की जाती है एवं जांच अनुसार उन्हें दवाइयां दी जाती है

निष्कर्ष अर्थात आज अपने क्या सीखा

तो दोस्तों उम्मीद करते है आपको हमारा यह पोस्ट opd kya hai? Opd me kya काम hota hai?opd full form 2021 से जुड़ी साडी जानकारी आप जान चुके होंगे

हमने अपने पाठकों के लिए OPD KYA HAI? से जुड़ी सारी जानकारी आपलोगो से साझा की है जिसे आप पढ़ कर ज्ञान अर्जित कर पाएंगे एवं हमारे पाठको को किसी दूसरे आर्टिकल में जाने की जरुरत नहीं होगी|

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कृपया इसे facebook twitter instagram linkdin whatsapp में शेयर करे

यदी आप किसी प्रकार का सुझाव हमे देना चाहते है तो कृपया कॉमेंट बॉक्स में कॉमेंट कर अपना सुझाव हमें भेजे

ध्न्यवाद

ये भी पढ़े:bhugol-ka-janak-kise-kaha-jata-hai

MA-KA-FULL-FORM-KYA-HOTA-HAI

quotes-on-earth-day

user-id-kya-hota-hai

 

Leave a Comment