INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE (FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार)

Rate this post

लेखक :गुड्डू राय

INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE ( FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार)

 

हमारे भारत में कई सारे ऐसे जगह है जिससे हमलोग वंचित है, लेकिन दुनिया की नजर से ऐसे जगह बचे नहीं है| पूरी दुनिया में प्रतिष्ठित एक एसी संस्था है जो पुरे विस्व में स्थित ऐसे कई जगह को पपुरस्कृत करते है|

FEE एक एसी संस्था है जो पुरे विस्व में दी जाने वाले पुरष्कार है| यह पुरष्कार बीच, मरीन, और बोटिंग टूरिस्म के लिए दुनिया के सबसे ज्यादा मान्यता प्राप्त अवार्ड में से एक है 

FEE के द्वारा भारत को पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार इस वर्ष मिला| ये बिच पांच राज्यों और दो केंद्र शासित राज्यों को दिया गया है| यह बीचो की संख्या कुल 8 है,जो पुरे भारत का नाम विस्व में रोशन किया है, यह बीच है:

·        शिवराजपुर (द्वारका,गुजरात)
·        घोघला (दीव)
·        KASARKOD (कर्णाटक)
·        PADUBIDRI (कर्णाटक)
·        कप्पर (केरल)
·        RUSHIKONDA (आंध्र प्रदेश )
·        गोल्डन (पूरी-ओडिशा)
·        राधानगर (अंडमान और निकोबार )

इन बीचों को FEE के द्वारा पुरष्कृत किआ गया है, उनकी टूरिस्म को सम्मानित किआ गया है, इसकी सुचना हमारे पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावडेकर ने ट्विट करके पुरे देश वासियों को सुचना दी|

INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE (FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार)

 

शिवराजपुर (द्वारका,गुजरात): द्वारका के रुक्मिणी मंदिर से केवल 15 मिनट की दुरी पर उत्तर में स्थित है, यह बीच लाइट हॉउस के साथ है,सफ़ेद मिट्टी और दूर दूर तक दीखते समुन्दर के साथ यह एक परफेक्ट टूरिस्ट डेस्टिनेशन है|

घोघला (दिव) : यह बीच दिव मुख्या शहर से लगभग 15 किलोमीटर दुरी पर घोघला गावं में स्थित है, यह पर्यटकों के बीच बेहद लोकप्रिय बनता जा रहा है,इसमें टूरिस्ट कॉम्पेक्स के साथ एडवेंचर स्पोर्ट्स की सुविधा है|

KASARKOD (कर्णाटक) : यह ECO BEACH कर्णाटक के उत्तर में कन्नर जिले के पास स्थित है,इसका उद्घाटन 2013 में हुआ था इसमें बोटिंग की सुविधा भी उपलब्ध है|

PADUBIDRI (कर्णाटक) : यह बीच पदुबिदी नाम के छोटे सहर में स्थित है,और उद्दप्पी से मेंगलोर के रास्ते में आता है,यह पद्दुबिदी नागराज एस्टेट बस स्टाप से लगभग एक किलोमीटर दूर है|

 (कप्पार केरल) : यह बीच कोझिकोड म कोयिलंदी के पास है,जहा छोटी पहारियो और चट्टानों इसकी सुन्दरता को बढ़ावा इति है| यहाँ प्रवासी चिरिया भी देखने को मिलती है|

RUSHIKONDA (आन्ध्र प्रदेश) :यह बीच आन्ध्र प्रदेश के बिशाखापट्टनम में बंगाल की खरी के तट पर है,यहाँ हर साल पुरे देश से पर्यटक आते है|

गोल्डन (पूरी-ओडिशा) :   पूरी का यह लोकप्रिय बीच मुशाफिरो के लिए बहुत ही लोक्पिर्य है,जो करीब के जग्गंनाथ मंदिर में आते है, वे लूग इस बीच की सुन्दरता को कवी मिस नहीं करना चाहते है|

राधानगर (अंडमान निकोबार) : हालाँकि केन्द्रससित राज्य होने के कारन इस राज्य में कोई जाना नहीं चाहता है, लेकिन राधानगर बीच और उसकी सुन्दरता देखते ही बनती है, अतः जो भी सैलानी वह जाते है इस बीच का आचे से लुप्त उठाते है,यहाँ DEEP SEA DIVING भी उपलब्ध है|

ये भी पढ़े:

world-sleep-day

WHAT IS FEE(FEE क्या है?):  FEE (FOUNDATION FOR ENVIRONMENT EDUCATION) यह एक गैर सरकारी संस्था और NONPROFIT ORGANISATION है,जो पर्यावरण के बारे में जागरूकता फैलाती है, लोगो को जागरूक बनाती है,ताकि पूरा विश्व पर्यावरण की सम्श्या से निपट सके|

PROGRAME OF FEE: FEE के सुरुवाती दिनों में एक ही PROGRAME का आयोजन किआ गया था लेकिन दिनोदिन सफलता हासिल होते गए और PROGRAME की बढ़ोतरी होती गई| अभी वर्तमान समय में FEE के 5 PROGRAME RUNNING है ये है:

  • Ø   BLUE FLAG
  • Ø  ECO-SCHOOL
  • Ø  YOUNG REPORTERS FOR ENVIRONMENT(YRE)
  • Ø LEARNING ABOUT FOREST(LEAF)
  • Ø  GREEN KEY

ये सभी प्रोग्राम विश्व में पर्यावरण की श्मश्यायो से निपटने के लिए बनाया गया है, जो साथ ही साथ टूरिस्म को भी बढ़ावा देता है| इसी सारे प्रोग्रामो में से के FEE द्वारा भारत को पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार मिला है|(INDIA GETS ITS FIRST EVER BLUE FLAG BEECH AWARD)

INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE (FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार)

HISTORY ABOUT FEE एंड ब्लू फ्लैग

1981:

  • Ø    1981 के सुरुवाती दिनों में नेदरलैंड में इसकी स्थापना हुई|

1987:

  • Ø  EUROPIAN YEAR FOR THE ENVIRONMENT
  • Ø  यूरोपियन CAMPAIGN के साथ ब्लू फ्लैग प्रोग्राम को लांच किआ गया|
  • Ø  4 (चार) नेशनल MEMBAR का आगमन हुआ (FRANCE,SPAIN,GERMANY,DENMARK)

1994:

  • Ø  ECO SCHOOL और YOUNG REPORTERS FOR ENVIRONMENT(YRE) को लांच किआ गया|
  • Ø  YRE को पहली बार स्कूल के प्रोग्राम में ऐड किआ गया|

1998:

  • Ø  EUROPIAN UNION ने ब्लू फ्लैग का साथ चोर दिया|
  • Ø  INTRODUCTION OF LEVY FOR BEACH AND MARINAS IN ORDER TO KEEP THE PROGRAM ALIVE

1999:

Ø  LEARNING ABOUT THE FOREST(LEAF) BECOMES THE 4TH PROGRAME OF FEE

2001:

  • Ø     DENMARK के GENRAL ASSEMBLYमें FEEE को ओफिसिअली FEE का नाम दिया गया |
  • Ø  साऊथ अफ्रीका पहला NONयूरोपियन देश बना जिसने FEE को JOIN किआ|

2003:

  • Ø  GREEN KEY को 5thप्रोग्रामके रूप में जोर गया|

2010:

  • LAUNCH TWO YEAR PILOT PHASE FOR THE UNIFICATION OF FEE AT THE GENRAL ASSEMBLY SHENZEN CHINA
  • GENRAL ASSEMBLY BECOMS BIENNIAL

2012:

Ø  DUBLIN के GENRAL असेंबली में IRELAND को FEE का नया HEADQUARTERS नियुक्त किआ गया

2014:

Ø  UNIFICATION OF THE FOUNDATION FOR ENVIRONMENT EDUCATION

INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE (FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार)

FEE AWARDS:

Ø  BEST NON PROFIT AT THE SD TECH AWARD

Ø  YRE GIVEN SPACIAL COMMENDATION AWARD FOR THE GLOBAL YOUTH & NEWS MEDIA PRIZE

Ø  YRE(YOUNG REPORTARS FOR ENVIRONMENT) INTERNATIONAL AWARDED WITH THE EARTH PRIZE 2018

Ø  BLUE FLAG TEAMS UP WITH EUROPON  NETWORK FOR ACCESIBLE TOWRISM TO PROMOTE BEACHES,MARINAS AND BOAT BASED ACTIVITIES FOR ALL

Ø  HUNDRADE SELETED ECO-SCHOOL ARE PART OF 100 INSPIRING INOVATION THAT ARE CHANGING THE FACE OF K12 EDUCATION TODAY

Ø  GREEN KEY ACHIVES GLOBAL SUSTAINABLE TOWRISM CAUNCIL RECOGNISED STATUS

इसमें से ब्लू फ्लैग अवार्ड FEE द्वारा भारत को पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार मिला है| (INDIA GETS ITS FIRST EVER BLUE FLAG BEECH AWARD) दिया गया है|

अंतिम शब्द:

अंत करते हुए मै यह कहना चाहता हु की ये न्यूज़ हम भात्वार्स के लोगो के लिए काफी गौरव करने वाली न्यूज़ है जिसमे INDIA GET ITS FIRST BLUE FLAG BEACH AWARD BY FEE (FEE के द्वारा भारत को मिला पहला ब्लू फ्लैग बीच पुरुष्कार) इतने बारे सम्मान से हमे नवाजा है इससे  और हमसब को गर्व होना चाहिए |

इस ब्लॉग में मैंने ब्लू फ्लैग बीच से जूरी सारी जानकारी देने की कोसिस की है,उम्मीद है अपलोगो को अच लगा होगा|अगर आपको हमारे पोस्ट अच्छा लगा क्यों कृपया इसे फेसबुक इंस्टाग्राम टि्वटर लिंकडइन व्हाट्सएप में शेयर जरूर करें एवं अगर आप किसी प्रकार का सुझाव हमें देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट जरुर करें

यदि आप hindimetrnd.in के साथ जुड़ना चाहते हैं तो कृपया हमारे फेसबुक पेज को लाइक करना ना भूलें hindimetrnd/facebookpage

धन्यवाद

ये भी पढ़े:ये भी पढ़े:WHAT-IS-EMAIL-ADDRESD-IN-HINDI

Leave a Comment